Short Moral Story In Hindi (बच्चों को नैतिकता और साहसिक)

#लालची शेर की कहानी (short story of greedy lion)

Free vector lion and deers running in the park

एक जंगल में, एक बहुत ही भयानक और लालची शेर रहता था। उसका नाम था राजा। राजा शेर जंगल का सबसे बड़ा और डरावना शेर था। लेकिन उसकी सबसे बड़ी समस्या थी – वह बहुत लालची था।शेर राजा के पास जंगल के बारे में बहुत सारा समृद्धि और संपत्ति थी, लेकिन उसे हमेशा अधिक चाहिए था। वह खाने के लिए जंगल के अन्य प्राणियों को धमकाता और उनके साथ छेड़खानी करता था।एक दिन, शेर राजा ने अपने दोस्त, सियार से मिलकर बात की। वह शेर से कहने लगा, “हे राजा, तुम जंगल का सबसे बड़ा और सबसे शक्तिशाली हो। फिर भी, तुम हमेशा और और और मांगते हो। यह तुम्हारी लालचीता के कारण है।”

राजा शेर ने इसे सुना, लेकिन उसने इस पर ध्यान नहीं दिया। उसे लगा कि लालच से ही सब कुछ हासिल होता है।एक दिन, शेर ने सोचा कि उसे जंगल की सबसे बड़ी धनी हड्डी की तलाश होनी चाहिए। वह धनी हड्डी का धन चुराकर खुश होगा और अधिक अमीर बन जाएगा।राजा शेर ने अपने साथी शेरों को भी साथ लिया और वे मिलकर हड्डी की तलाश में निकल पड़े।जंगल के अन्य प्राणियों ने सुन लिया कि शेर राजा हड्डी की तलाश में हैं, और उन्हें पता चल गया कि वह उनकी तलाश में हैं। वे चुपके से एक छलांग लगाकर हड्डी को ले गए और वहाँ छिपा दिया।

राजा शेर और उसके साथी शेरों ने आगे बढ़ते हुए हड्डी की तलाश की, लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। बिना हड्डी के, वे खाली हाथ वापस लौट आए।राजा शेर को यह सिखने को मिला कि लालच से कुछ नहीं मिलता है। उसने अपनी लालचीता के कारण अपने दोस्तों को ख#लकड़हारा और सोने की कुल्हाड़ी की कहानी (a short story in hindi of the woodcutter and the golden axe)

Free vector bear and lumberjack chopping wood in the forest

 

बहुत समय पहले की बात है, एक गाँव में एक लकड़हारा रहता था। उसका नाम था रामू। रामू बहुत ही मेहनती और ईमानदार था। हर दिन वह जंगल में लकड़ी काटने जाता और अपने परिवार को पालने के लिए पैसे कमाता।
एक दिन, जब रामू अपने काम के लिए जंगल में गया, तो उसने एक सोने की कुल्हाड़ी पाई। वह हैरान था कि कैसे किसी ने इतनी सुन्दर और महंगी कुल्हाड़ी को जंगल में छोड़ दिया।रामू ने कुल्हाड़ी को उठाया और अपने घर ले गया। वह बहुत खुश था कि अब उसका काम आसान हो जाएगा।पर जब वह कुल्हाड़ी का उपयोग करने लगा, तो उसने देखा कि वह अब अधिक लकड़ी काट रही है। वह खुश होकर सोचने लगा, “यह कुल्हाड़ी मेरे लिए अनमोल है।”

रामू ने अगले कुछ दिनों में बहुत सारा पैसा कमाया। परन्तु उसकी खुशी बहुत जल्दी ही खत्म हो गई, जब उसने जब अपनी सोने की कुल्हाड़ी के लिए अधिक लकड़ी काटने लगा।एक दिन, जब रामू काम कर रहा था, तो उसने अपनी सोने की कुल्हाड़ी को झटका दिया। कुल्हाड़ी उसके हाथ से निकल कर जंगल में गिर गई।
रामू ने कुछ समय तक खोज की, पर उसने अपनी कुल्हाड़ी को नहीं पाया। वह बहुत उदास हो गया।उसने अपनी गलती को समझा और वापस जंगल गया। वह फिर से मेहनत करने लगा, लेकिन इस बार वह ध्यान देता था कि वह किसी की मेहनत के फल को कभी भी नुकसान नहीं पहुँचाएगा।ऐसा करने से, रामू ने फिर से अपने जीवन को सुखमय और संतोषप्रद बनाया।

मोरल: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि लालच और अधिक चाहना हमें कभी भी अच्छा नहीं करता। हमें हमेशा सच्चाई और ईमानदारी के साथ अपने काम करना चाहिए।

#हाथी और उसके दोस्तों की कहानी (Hindi story of elephant and his friends)

Free vector happy girl riding elephant in the jungle

बहुत पुराने समय की बात है, एक बड़े जंगल में एक हाथी रहता था। उसका नाम था मनोहर। मनोहर बहुत ही बड़ा और शांत दिल का हाथी था। वह जंगल के राजा के रूप में माना जाता था।मनोहर के चारों तरफ बहुत सारे प्राणी उसके दोस्त थे। उसके सबसे अच्छे दोस्त थे बंदर, गाय, खरगोश, और मोर। सभी वे मनोहर के साथ बहुत प्यार से रहते थे।एक दिन, जब गर्मियों के दिन थे, तो मनोहर को प्यास लगी। उसने अपने दोस्तों को बुलाया और कहा, “मेरे प्यासे होने के कारण मुझे जल की खोज करनी है। क्या तुम सब मेरे साथ चलोगे?”मनोहर के दोस्तों ने उसकी साथ खुशी-खुशी सहमति दी। वे सभी मिलकर जल की खोज के लिए निकल पड़े।पर जब वे एक नदी के पास पहुँचे, तो उन्हें देखा कि नदी में पानी बहुत ही कम था। मनोहर और उसके दोस्तों ने चिंता की अवस्था में देखी।

तब उन्होंने एक छोटे से गाँव के निकट एक कुआं देखा। वे सोचे कि वहाँ पानी हो सकता है।मनोहर और उसके दोस्त ने गाँव के पास पहुँचकर वहाँ का पानी पीने के लिए खुश हो गए। परंतु, कुआं में पानी कम था।मनोहर का दोस्त बंदर ने कहा, “मुझे एक रण्ड लाने में मदद करो, हम उसे कुआं में पानी भरने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।”मनोहर और उसके दोस्तों ने साथ मिलकर रण्ड लाकर कुआं में पानी भरने की कोशिश की।वे मेहनती तरीके से काम करते रहे और धीरे-धीरे कुआं भर गया। जब पानी भर गया, तो उन्होंने बहुत ही खुशी मनाई।

इस कहानी की मोरल यह है कि सहायता और साझेदारी सभी मुश्किलों को हल करने में मदद करती है। जब हम साथ मिलकर काम करते हैं, तो हमारे पास हर मुश्किल का हल होता है। हमें अपने दोस्तों का समर्थन देना और उनके साथ मिलकर काम करना चाहिए।

Leave a Comment